UP Board Syllabus: यूपी बोर्ड के पाठ्यक्रम में अहम बदलाव, वीर सावरकर समेत 50 महापुरुषों की जीवन गाथा पढ़ेंगे विद्यार्थी

UP Board Syllabus: Change in the high school syllabus of UP Board, students will read the life story of 50 great men including Veer Savarkar
 
UP Board Syllabus: यूपी बोर्ड के हाई स्‍कूल पाठ्यक्रम में बदलाव, वीर सावरकर समेत 50 महापुरुषों की जीवन गाथा पढ़ेंगे विद्यार्थी

UP Board Syllabus: यूपी बोर्ड ने अपने पाठ्यक्रम में अहम बदलाव किया है। अब यूपी बोर्ड के छात्र-छात्राएं विनायक दामोदर सावरकर समेत 50 महापुरुषों की जीवन गाथा पढ़ेंगे।

सावरकर के अलावा पंडित दीनदयाल उपाध्याय, महावीर जैन, भारत रत्न पंडित मदन मोहन मालवीय, अरविंद घोष, राजा राममोहन राय, सरोजनी नायडू और नाना साहब की जीवन गाथा को पढ़ाया जाएगा।

इस पाठ्यक्रम को नैतिक योग खेल एवं शारीरिक शिक्षा विषय में शामिल किया गया है। जुलाई से स्कूलों में शुरू होने वाली पाठ्यक्रम में महापुरुषों की जीवन गाथा शामिल होगी। यह विषय सभी विद्यालयों के लिए अनिवार्य किया गया है। साथ ही छात्र-छात्राओं को इस विषय में पास होना अनिवार्य है। हालांकि इसके अंक हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के अंकपत्र में शामिल नहीं होंगे।

बता दें कि इन महापुरुषों के नामों को लेकर यूपी बोर्ड में लंबे समय से कवायद चल रही थी। यूपी बोर्ड के विषय विशेषज्ञों की ओर से महापुरुषों के नाम की सूची शासन को भेजी गई थी, जिस पर अब शासन की भी मुहर लग गई है।

यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर पाठ्यक्रम में इन महापुरुषों के नाम शामिल करते हुए उसे जारी कर दिया गया है। यूपी बोर्ड के 27 हजार से ज्यादा राजकीय, सहायता प्राप्त और वित्तविहीन स्कूलों में कक्षा 9 से 12 तक के एक करोड़ से ज्यादा छात्र छात्राएं इन महापुरुषों की जीवन गाथा पढ़ेंगे।

कक्षा नौ के छात्र चंद्र शेखर आजाद, बिरसा मुंडा, बेगम हजरत महल, वीर कुंवर सिंह, ईश्वर चंद्र विद्यासागर, गौतम बुद्ध, ज्योतिबा फुले, छत्रपति शिवाजी,विनायक दामोदर सावरकर, विनोबा भावे, श्रीनिवास रामानुजन और जगदीश चंद्र बोस की जीवन गाथा पढ़ेंगे।

वहीं कक्षा 10 के छात्र मंगल पांडेय, रोशन सिंह, सुखदेव, लोकमान्य तिलक, गोपाल कृष्ण गोखले, महात्मा गांधी, खुदीराम बोस और स्वामी विवेकानंद की जीवन गाथा पढ़ेंगे।

कक्षा 11 के छात्र राम प्रसाद बिस्मिल, भगत सिंह, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभभाई पटेल, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, महावीर जैन पंडित मदन मोहन मालवीय, अरविंद घोष, राजा राममोहन राय, सरोजिनी नायडू, नाना साहब, महर्षि पतंजलि, शल्य चिकित्सक सुश्रुत और डॉक्टर होमी जहांगीर भाभा की जीवन गाथा पढ़ेंगे। 

जबकि 12वीं के छात्र रामकृष्ण परमहंस, गणेश शंकर विद्यार्थी, राजगुरु रवींद्रनाथ टैगोर, लाल बहादुर शास्त्री, रानी लक्ष्मीबाई, महाराणा प्रताप, बंकिम चंद्र चटर्जी, आदि शंकराचार्य, गुरु नानक देव, डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम, रामानुजाचार्य, पाणिनी, आर्यभट्ट और सीवी रमन की जीवन गाथा पढ़ेंगे।