मैं पढ़ना चाहती हूं, मेरी शादी रुकवा दीजिए... पुलिस को फोन करके रोने लगी नाबालिग, अब मिली ये गारंटी

आंध्र प्रदेश में एक लड़की पढ़ लिख कर कुछ बनना चाहती थी लेकिन घर वाले उसकी शादी करने पर अड़े थे। घर वालों के जिद पर अड़े रहने के कारण आखिरकार लड़की ने शादी से तीन दिन पहले महिला पुलिस हेल्पलाइन दिशा को फोन किया और शादी रुकवा दी। लड़की इलुरु जिले के कमवरापुकोटा के वेंकटरपुरम की रहने वाली है और उसके माता-पिता ने आठ जून को उसकी शादी तय की थी।

 
मैं पढ़ना चाहती हूं, मेरी शादी रुकवा दीजिए... पुलिस को फोन करके रोने लगी नाबालिग, अब मिली ये गारंटी

आंध्र प्रदेश में एक लड़की पढ़ लिख कर कुछ बनना चाहती थी लेकिन घर वाले उसकी शादी करने पर अड़े थे। घर वालों के जिद पर अड़े रहने के कारण आखिरकार लड़की ने शादी से तीन दिन पहले महिला पुलिस हेल्पलाइन दिशा को फोन किया और शादी रुकवा दी। लड़की इलुरु जिले के कमवरापुकोटा के वेंकटरपुरम की रहने वाली है और उसके माता-पिता ने आठ जून को उसकी शादी तय की थी।

सोमवार को पुलिस विभाग द्वारा प्रेस नोट में कहा गया है, ‘लड़की ने कहा कि वह पढ़ाई जारी रखना चाहती है और शादी नहीं करना चाहती। इसलिए उसने महिला पुलिस हेल्पलाइन दिशा एसओएस पर फोन किया और रोने लगी।’

फोन पर बात करने के कुछ ही मिनट बाद तलिकड़ापुली से पुलिस लड़की के घर पहुंच गई। लड़की ने बताया कि परिजनों ने उसकी इच्छा के विरुद्ध शादी तय कर दी है। 

नाबालिग लड़की ने पुलिस को बताया कि वह अच्छे अंकों से 10वीं कक्षा पास कर चुकी है और कम से कम स्नातक तक की पढ़ाई करना चाहती है। लड़की ने शिक्षा पूरी करने के बाद अपने परिजन के निर्देशों के अनुसार शादी करने का वादा किया।

बाद में, पुलिस ने लड़की के माता-पिता को सलाह दी कि उसके उत्साह और इंटरमीडिएट परीक्षा में उसके अच्छे अंकों को देखते हुए उसकी पढ़ाई को बीच में रोकना ठीक नहीं है। पुलिस के समझाने बुझाने के बाद उसके माता-पिता मान गए और उच्च शिक्षा प्राप्त करने में अपनी बेटी का समर्थन का वादा करते हुए उसकी शादी रद्द कर दी।

 पुलिस के मुताबिक, माता-पिता अपनी बेटी की जल्द शादी इसलिए करना चाहते थे क्योंकि वे उसकी पढ़ाई का खर्च नहीं उठा सकते थे।