Kargil Vijay Diwas: कारगिल विजय दिवस आज, जानिए कारगिल की विजयगाथा...

Kargil Vijay Diwas: Kargil Victory Day today, know the victory story of Kargil...
 
Kargil Vijay Diwas: कारगिल विजय दिवस आज, जानिए कारगिल की विजयगाथा... 

Kargil Vijay Diwas: 26 जुलाई, 1999 का वो दिन जो भारतीय सेना की जांबाजी, पराक्रम और बहादुरी के लिए जाना जाता है। यही वो दिन है जब भारत ने कारिगल युद्ध में पाकिस्तानी सेना को धूल चटाई थी। भारत के सैकड़ों वीर जवानों की शहादत को याद करते हुए 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है।


इस लड़ाई की शुरुआत 3 मई 1999 को हुई थी, जब पाकिस्तान ने कारगिल की ऊंची पहाड़ियों पर 5 हजार से ज्यादा सौनिकों के साथ घुसपैठ कर कब्जा जमा लिया था। 

जैसे ही भारतीय जवानों को इसकी भनक लगी तो पाकिस्तानी सैनिकों को खदेड़ने के लिए 'ऑपरेशन विजय' चलाया गया। जिसके बाद 26 जुलाई को भारत ने पाकिस्तान को युद्ध में हराया और भारत की जीत का ऐलान हुआ।

कारगिल विजय दिवस आज

कारगिल विजय दिवस भारत की एक बहुत बड़ी जीत थी। साल 1999 में करगिल युद्ध में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी फौज को युद्ध के मैदान धूल चटा दी थी।

करगिल की यह लड़ाई पूरे 60 दिनों तक चली थी और 26 जुलाई 1999 को यह युद्ध खत्म हुआ था। जिसके बाद से इस दिन को कारगिल विजय दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

भले ही कारगिल युद्ध में भारत को जीत मिली थी, लेकिन भारतीयों को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ी थी। इस युद्ध में भारतीय सेना के 527 सैनिक शहीद हुए थे और 453 आम नागरिक भी इस युद्ध में मारे गए थे।

ये दिन उस युद्ध में शहीद हुए जवानों को याद करने और उनकी कुर्बानी को सम्मान देने का है। आप अपने प्रियजनों को कारगिल विजय दिवस पर इन मैसेजेस, वॉट्सऐप, फेसबुक से कर सकते हैं विश।

करगिल विजय दिवस क्यों मनाया जाता है?


सन 1999 में करगिल युद्ध में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी फौज को रणभूमि में धूल चटा दी थी। यह करगिल युद्ध 60 दिनों तक चला और 26 जुलाई 1999 को भारत ने पाकिस्तान को हरा दिया, जिसे ऑपरेशन विजय नाम दिया गया।

इस विजय को प्राप्त करने में भारतीय सेना के कई जवान शहीद हुए। इसलिए भारत सरकार ने फैसला किया कि 26 जुलाई को हर साल भारतीय सेना के शौर्य दिवस के रूप में करगिल विजय दिवस मनाया जाएगा।